चेन्नई की बाढ़ पर एक्ट्रेस अदिति बालन ने की स्टालिन सरकार की आलोचना

नई दिल्ली:

बंगाल की खाड़ी से 2 दिसंबर को उठे साइक्लोन 'मिगजॉम' (Cyclone Michuang)ने चेन्नई (Chennai Rain) में बहुत ही तबाही मचाई है. बारिश की वजह से चेन्नई (Chennai Flood) पानी-पानी हो गई है. बाढ़ से लोगों को बुरा हाल है. इस बीच एक्ट्रेस अदिति बालन (Actress Aditi Balan) ने सोशल मीडिया पर तमिलनाडु सरकार की आलोचना की है. उन्होंने आरोप लगाया कि जिस समय वह चेन्नई बाढ़ में फंसे परिवारों को बचा रही थीं, तब उनसे तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के काफिले के लिए रास्ता बनाने के लिए कहा गया. अपने एक्स अकाउंट पर तमिल एक्ट्रेस ने सरकार पर एक "प्रभावशाली" महिला की मदद करने और आम लोगों को नहीं बचाने का भी आरोप लगाया.

ये भी पढ़ें-VIDEO: साइक्लोन 'मिगजॉम' के कहर से चेन्नई में आई बाढ़, IAF के हेलिकॉप्टर से पहुंचाया जा रहा खाना

एक्ट्रेस अदिति बालन का प्रशासन पर आरोप

अदिति बालन ने पोस्ट में लिखा, "जब मैं बाढ़ में फंसे परिवार को वहां से नकालने के लिए इंतजार कर रही थी तब सीएम स्टालिन के काफिले की वजह से मुझसे मेरी कार हटाने के लिए कहा गया." एक अन्य पोस्ट में एक्ट्रेस ने कहा, "सरकार, आप कहां हैं? मैं जब राधाकृष्णन नगर, तिरुवामियूर गई, तो इस क्षेत्र के आसपास के इलाकों का पानी भी इसी क्षेत्र में डाल दिया गया. पानी में मरे हुए जानवर तैर रहे थे. हमें 2 बच्चों और उनकी दादी को बचाने के लिए बाढ़ के पानी से होकर गुजरना पड़ा. इस बीच, 6 पुलिसकर्मियों के साथ एक नाव एक प्रभावशाली महिला को लेने के लिए कोट्टूरपुरम में रिवर व्यू रोड पर पहुंची."

ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन बाढ़ पीड़ितों से नहीं कर रही संपर्क

एक्ट्रेस अदिति बालन ने बुधवार को कहा कि राधाकृष्णन नगर में "कुछ भी नहीं बदला है", लोग अभी भी वहां फंसे हुए हैं. उन्होंने पूछा कि "ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन से कोई भी वहां के लोगों से संपर्क क्यों नहीं कर रहा है." बता दें कि चेन्नई में तूफान के चौथे दिन भी निचले इलाकों में पानी भरा हुआ है. अधिकारियों का कहना है कि जलस्तर घट रहा है. बता दें कि साइक्लोन 'मिगजॉम की वजह से हुई बारिश का पानी चेन्नई में बाढ़ की वजह बन गया है. केबल पानी के नीचे होने की वजह से सुरक्षा के मद्देनजर चेन्नई  के कुछ इलाकों में बिजली काट दी गई है. 

तूफान 'मिगजॉम' से करीब 13 लोगों की मौत

बता दें कि चक्रवात के मंगलवार को आंध्र प्रदेश में पहुंचने से पहले हुई मूसलाधार बारिश में करीब 13 लोगों की मौत हो गई. बुधवार को मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने बाढ़ प्रभावित कुछ इलाकों का दौरा किया और शहर के एक राहत केंद्र में रह रहे लोगों को जरूरी चीजें और खाना बांटा. उन्होंने पानी निकासी के लिए शहर के नागरिक निकाय द्वारा की गई गतिविधियों का भी निरीक्षण किया. सीएम एमके स्टालिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर 5,060 करोड़ रुपये की अंतरिम बाढ़ राहत की मांग की है. 
ये भी पढ़ें-तमिलनाडु-आंध्र प्रदेश में भारी नुकसान के बाद सइक्लोन 'मिगजॉम' हुआ कमजोर, चेन्नई में स्कूल-कॉलेज बंद